मोबाइल में ऐसे लें सूर्य ग्रहण की फोटो

  • जुगनू शर्मा, योग प्‍वाइंट

सबसे पहले अपने कैमरे के आगे एक्स-रे या यूवी फिल्टर जैसी प्रोटेक्शन फिल्म का इस्तेमाल करें. इससे कैमरा सेंसर को नुकसान नहीं होगा।

सूर्य ग्रहण की फोटो के लेते समय कैमरे को जूम न करें।

कैमरे को 48MP या 64MP शूटिंग मोड पर रखें. जूम करने के बजाय आप हाई रेजोल्यूशन वाली इमेज क्रॉप कर सकते हैं. इससे अच्छी क्लैरिटी आएगी।

आंखों को नुकसान से ऐसे बचाएं

सूर्य ग्रहण के दौरान अगर आप नंगी आंखों से आसमान की ओर देखे हैं तो सूरज की इनफ्रारेड और अल्ट्रावॉयलेट किरणें आंखों के रेटिना को नुकसान पहुंचा सकती हैं। इस दौरान थोड़ी देर के लिए भी सीधे सूरज की ओर नहीं देखना चाहिए। भले ही सूरज की 99 फीसदी सतह चांद से ढंकी हो, लेकिन बाकी रोशनी काफी तेज होती है जो आंखों को नुकसान पहुंचा सकती है।

सूर्य ग्रहण से संबंधित दिलचस्प जानकारी:

  • आज यानी 21 जून के बाद आप अगला सूर्य ग्रहण 14-15 दिसंबर में देख पायेंगे। लेकिन ये ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा।
  • एक साल में 5 सूर्य ग्रहण तक हो सकते हैं। पूर्ण सूर्यग्रहण एक दुर्लभ दृश्य है। जो हर 18 महीने में एक बार ही होता है।
  • पूर्ण सूर्य ग्रहण के लिए, सूर्य को चंद्रमा द्वारा कम से कम 90 प्रतिशत तक ढका होना जरूरी होता है। आज के सूर्य ग्रहण में सूर्य 99 फीसदी से ज्‍यादा ढकने जा रहा है।
  • पूर्ण सूर्य ग्रहण की सबसे लंबी अवधि 7.5 मिनट है।
  • पूर्ण सूर्य ग्रहण को उत्तर और दक्षिण ध्रुवों से नहीं देखा जा सकता है।
  • इस सदी के बीते 20 वर्षों में भारत से 5 सूर्यग्रहण नजर आए जो 2005,  2006,  2009, 2010, 2019 में दिखे।
  • अगला वलयाकार ग्रहण दिसंबर 2020 में पड़ेगा। दिल्ली में नेहरू तारामंडल की निदेशक एन रत्नाश्री के मुताबिक अगला वलयाकार ग्रहण दिसंबर 2020 में पड़ेगा, जो दक्षिण अमेरिका से देखा जाएगा।

गर्भवती महिलाएं रखें विशेष सावधानी भारतीय मान्यताओं के अनुसार, ग्रहण शुरू होने से लेकर ग्रहण समाप्त होने तक यानी ग्रहणकाल (21 जून को 09:15AM से 03:04PM तक) में गर्भवती महिलाओं को विशेष सावधानी रखनी चाहिए. महिलाओं को इस दौरान घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए. हालांकि मन में किसी प्रकार का भय या चिंता नहीं रखनी चाहिए।

Leave a Reply

Close Menu