बच्चों को ये जरूर खिलाएं, नहीं होगी खून की कमी

बच्चों को ये जरूर खिलाएं, नहीं होगी खून की कमी

पोषक तत्वों की कमी के कारण बच्‍चों या शिशु में एनीमिया हो सकता है। आयरन को खून से बांधे रखने के लिए कुछ मात्रा में विटामिन सी और अधिक आयरन की जरूरत पड़ती है, लेकिन छोटे बच्‍चों में इतनी जल्‍दी सिर्फ सामान्य भोजन के जरिए एनीमिया को खत्‍म नहीं किया जा सकता है, क्‍योंकि बच्‍चों का पेट छोटा होता है और जल्‍दी भर जाता है।

बच्‍चों में एनीमिया के लक्षण की बात करें तो इससे ग्रस्‍त बच्‍चे की त्‍वचा पीली पड़ जाती है और थकान ज्‍यादा महसूस होने लगती है। बच्‍चों को एनीमिया से लड़ने के लिए घरेलू उपचार की मदद ली जा सकती है क्‍योंकि ये कम समय में जल्‍दी काम करते हैं। अगर आप भी अपने बच्‍चे के शरीर में खून की मात्रा बढ़ाना चाहते हैं तो यहां बताए गए बच्चों में खून बढ़ाने के उपाय आजमा सकते हैं।

​चुकंदर और सेब का रस
एक कप सेब का रस, एक कप चुकंदर का रस और 1 से 2 चम्‍मच शहद लें। इन तीनों चीजों को अच्‍छी तरह से मिक्‍स कर के बच्‍चे को दिन में दो बार पिलाएं। सेब में आयरन होता है और चुकंदर में उच्‍च मात्रा में फोलिक एसिड होने के साथ-साथ फाइबर और पोटैशियम होता है।

​पालक
आधा कप उबले हुए पालक में 3.2 मि.ग्रा आयरन होता है। एक कप पानी में आधा कप पालक उबालकर उसका सूप बनाकर बच्‍चे को दें। पालक के एक गिलास जूस में दो चम्‍मच शहद डालकर पीने से भी फायदा होता है। आपको ये जूस कम से कम 40 दिनों तक रोज अपने बच्‍चे को देना है।

​टमाटर
सलाद या सैंडविच में बच्‍चों को टमाटर दें। आपको अपने बच्‍चे को रोज 1 से 2 टमाटर खिलाने हैं। बच्‍चे को रोज एक गिलास टमाटर का जूस भी दे सकती हैं। टमाटर विटामिन सी और लाइकोपीन से युक्‍त होता है। विटामिन सी खाद्य पदार्थों से मिलने वाले आयरन को अवशोषित करने में मदद करता है।

किशमिश
किशमिश में कैल्शियम, पोटैशियम, सोडियम, प्रोटीन, फाइबर और आयरन होता है। 100 ग्राम किशमिश से बच्‍चे को 1.88 मि.ग्रा आयरन मिल सकता है। आप अपने बच्‍चे को रोज किशमिश खिलाएं। उसकी मनपसंद डिश में भी किशमिश डालकर खिला सकती हैं।

अनार
अनार में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फैट और फाइबर प्रचुरता में पाया जाता है। इसमें आयरन और कैल्शियम भी होता है। अनार आपके बच्‍चे के लिए सुपरफूड का काम कर सकता है। अगर आप चाहती हैं कि आपके बच्‍चे को एनीमिया न हो या उसके शरीर में खून की मात्रा बढ़े तो उसे रोज 200 ग्राम अनार खाली पेट अनार खिलाएं। आप उसे नाश्‍ते में एक गिलास अनार का जूस भी दे सकती हैं।

​तिल
तिल भी एनीमिया का इलाज कर सकते हैं। खासतौर पर काले तिल आयरन का बेहतरीन स्रोत होते हैं। दो घंटे के लिए तिल के बीजों को भीगने के लिए रख दें। अब पानी छानकर तिल को पीसकर पेस्‍ट बना लें। इस पेस्‍ट में शहद डालकर मिलाएं। बच्‍चे को दिन में दो बार ये पेस्‍ट दलिये के रूप में खिलाएं। इसे टेस्‍टी और पौष्टिक बनाने के लिए आप इसमें बादाम, काजू और किशमिश भी डाल सकती हैं।

Leave a Reply

Close Menu